गुरदास मान का बात करने का तरीका, व्यवहार, रहन-सहन, अभिवादन… है। वह एकदम परफेक्ट है।-हॉबी धालीवाल

Ranjeet Kaur; May11,2020

हॉबी धालीवाल का जन्म लुधियाना के सीएमसी अस्पताल में अगस्त 14,1965 को हुआ था। उनका जन्म ग्राम चपरौड़ा, जिला संगरूर, पंजाब, भारत में हुआ था। उन्होंने अपना बी.ए. पटियाला से किया उसे एक पत्नी और 2 बच्चों का प्यारा परिवार मिला है। उनकी जीवनसाथी लिली ग्रेवाल एक फैशन डिजाइनर और सहायक हैं। उन्होंने रक्षा अध्ययन भी किया। उन्हें लोक नृत्य भांगड़ा बहुत पसंद है।


वह जोरा 10 नंबरिया, बुराहा बुराह, फेर ममला गड़बड़ गड़बड़, पंजाबीया दा किंग, परिंदे, ऊंचा पिंड जैसी कई फिल्मों में अपने काम के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने 3 एल्बम भी गाए। वह आगामी सियोनी फिल्म का सह-निर्माण कर रहे हैं। उनके चचेरे भाई जस पंजाबी चैनल में निर्माता थे। उन्होंने चैनल में एक अभिनेता की जगह ली और उनका करियर रफ्तार पकड़ गया।


उनके रोलमॉडल गुरदास मान हैं। गुरदास मान से उसे जो बात  प्रेरित करती है, वह बात करने का तरीका, व्यवहार, रहन-सहन, अभिवादन… है। वह एकदम परफेक्ट है। मैं मान का प्रशंसक हूं। हॉबी कहते हैं। प्रशंसकों के लिए उनका संदेश है जिओ और पंजाबियत को जिंदा रखो।